भारत की जनसंख्या कितनी है 2022 में – [ सभी राज्यों के आकड़े ]

5/5 - (2 votes)

भारत की जनसंख्या कितनी है 2022 में :भारत की जनसंख्या कई देशो के मुकाबले कई ज्यादा है। भारत अपने नए तोर तरीको ,संस्कृति और आबादी के लिए सारी दुनिया में जाना जाता है। भारत अपने आप मई ही कई प्रकार के देशो का मिश्रण माना जाता है। भारत की निमन संस्कृति उसके अलग अलग देशो की प्रणली से बसे लोगो की देन है। भारत को एक सबसे अलग देश भी कहा जाता है क्युंकी इसकी मीट्टी में कई प्रकार के देशो की खुसबू आसानी से मिल जाती है।

भारत को एक सम्पूर्ण देश कहना कोई गलत बात नहीं होगी भारत में आस पास के देशो के भी लोगो को ढूंढ़ना कोई मुश्किल बात नहीं है वो भी भारत की जनसंख्या और संस्कृति में इतने घुल मिल जाते है। की यह कहना मुश्किल है की वो हमारे ही देश या नहीं।

भारत को सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश इसलिए कहा जाता क्येंकि भारत में दुनिया के हर कोने से बसे लोग पाए जाते है। जनसंख्या बढ़ोतरी का सीधा साधा मतलब है लोगो की संख्या में बढ़ोतरी। लोगो की मन में भारत की संस्कृति एक अलग ही भाव स्पष्ट करते है। लोगो के भाव इनकी संस्कृति से काफी मात्रा में जुड़े होते है इसलिए लोगो को भारत का (CULTURE ) खूब भाता है।

भारत की जनसंख्या कितनी है 2021 में ,2021 में भारत की जनसंख्या कितनी थी ,भारत की कुल जनसंख्या कितनी है 2021 ,चीन की जनसंख्या कितनी है ,चीन की जनसंख्या कितनी है 2020 ,2021 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ,2021 में भारत की जनसंख्या कितनी होगी ,2020 में भारत की जनसंख्या कितनी है ,भारत की कुल जनसंख्या 2021

वर्तमान भारत की जनसंख्या कितनी है 2022 में – जनसंख्या हर साल क्यों भारी मात्रा में बढ़ती है ? 

वैसे तो भारत में आये दिन लोगो की बढ़ने और कम होने का सिलसिला चलता रहता है। ये भारत में ही नहीं पुरे संसार का यही मापदंत रहा है। दुनिया में रोज बहुत लोगो का जन्म होता है और उतने की संख्या में लोगो को दुनिया छोड़ते भी देखा जाता है। तो हर रोज पैदा होने वाले लोगो की संख्या ज्यादा है या दुनिया छोड़ने वाले लोगो की यह अनुमान लगाना बहुत मुश्किल है।

भारत की जनसंख्या में हर साल लगभग 12 प्रतिशत लोगो की भारत से जुड़ने की संख्या पाई गयी है। यह हिसाब जनगणना के द्वारा लगाया गया है। भारत से जुड़ने के आकड़ो में लगभग हर साल कुछ प्रतिशत की बढ़ोतरी होते रहती है और ऐसा नहीं की भारत के लोग दूसरे देशो से नहीं जुड़ते परन्तु भारत से लोगो की मात्रा उनके दूसरे देशो से जुड़ने की मात्रा से कई ज्यादा है।

यह सवाल हर भारतीय के मन में घर पर किया जाता है सब यह जानने को उत्सुक होते है की आखिर भारत की जनसंख्या इतनी क्यों है इस 138 करोड़ की जनसख्या में सबसे ज्यादा आबादी इस राज्य या केंद्र स्थान में है।

भारत के राज्यो की संख्या

खासकर यूपी ,बिहार और मध्य प्रदेश जैसे क्षतर में लोगो की संख्या काफी अत्तिया अधिक है। अभी लगये गए आंकड़ों के हिसाब से इनकी संख्या को विस्तार से लिखने का प्रयास किआ गया है। वो कुछ इस प्रकार है।

वर्तमान के आंकड़े ( Position )

  1. उत्तर प्रदेश (19 करोड़ 81 लाख )
  2. महाराष्ट्र (11 करोड़ 23 लाख )
  3. बिहार (10 करोड़ 40 लाख )
  4. पछिम बंगाल (9 करोड़ 13 लाख )
  5. मध्य प्रदेश (MP )(7 करोड़ 25  लाख )
  6. तमिल नाडु (7 करोड़ 20 लाख )
  7. राजस्थान (6 करोड़ 85 लाख )
  8. कर्नाटक (6 करोड़ 11 लाख )
  9. गुजरात (6 करोड़ 3 लाख )
  10. आंध्र प्रदेश (4 करोड़ 93 लाख )
  11. ओर्रिसा (4 करोड़ 19 लाख )
  12. तेलंगाना  (3 करोड़ 52 लाख )
  13. झाड़खंड (3 करोड़ 30 लाख )
  14. असम (3 करोड़ 12 लाख )
  15. पंजाब (2 करोड़ 77 लाख )
  16. छत्तीसगढ़ (2 करोड़ 55 लाख )
  17. हरियाणा (2 करोड़ 53 लाख )
  18. जम्मू और कश्मीर (1 करोड़ 25 लाख )
  19. उत्तराखंड (1 करोड़ 1 लाख )
  20. हिमाचल प्रदेश (68 लाख 56 हज़ार )
  21. त्रिपुरा (36 लाख 71 हज़ार )
  22. मेघलया (29 लाख 64 हज़ार )
  23. मड़ीपुर (27 लाख 21 हज़ार )
  24. नागालैंड (19 लाख 80 हज़ार )
  25. गोआ (14 लाख 57 हज़ार )
  26. अरूणाचल प्रदेश(13 लाख 82 हज़ार ) 
  27. मिजोरम (10 लाख 91 हज़ार )
  28. सिक्किम (6 लाख 7 हज़ार )

अनुमान भारत की जनसंख्या 2022 में कितनी होगी और उसके बाद कितने ?

भारत की जनसंख्या कितनी है ? यह अनुमान लगाना गलत नहीं होगा की आने वाले वक़्त में भारत की संख्या में बढ़ोतरी होगी या उस वक़्त तक शायद लोगो के भाव में बदलाव आ सकते है। तो संख्या कम होने का भी एहम कारण है। वैसे यह कहना सत प्रतिशत सही है की भारत एक नई जनरेशन का विभिन्न प्रणाली का देश है। जिसमे युवाओ की संख्या अत्याधिक है जो भारत के भविष्य के लिएएक अच्छी बात है।

अभी तक भारत की आबादी बहुत थी जिससे हमारे संस्कृति में विभिन बदलाव देखने को मिलते रहे है।जैसे हमारे संस्कृति का बोल-बाला पुरे विश्वभर चढ़कर बोलता है।संस्कृति बहुत प्रचलित है और सबसे ज्यादा धार्मिक स्थलों पे इसका प्रचलन बहुत ज्यादा है। जो बढ़ते आबादी को एक अच्छे संकेत के साथ वेलकम करता है।

भारत के लिए बढ़ती जनसंख्या सही है या गलत ?

भारत के लिए बढ़ती जनसंख्या सही है या गलत ?, ,2021 में भारत की जनसंख्या कितनी थी ,भारत की कुल जनसंख्या कितनी है 2021 ,चीन की जनसंख्या कितनी है ,चीन की जनसंख्या कितनी है 2020 ,2021 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ,2021 में भारत की जनसंख्या कितनी होगी ,2020 में भारत की जनसंख्या कितनी है ,भारत की कुल जनसंख्या 2021

आपको यह तो पता ही होगा कि भारत की जनसंख्या कितनी है इसका भारत में प्रचलित सबसे ज्यादा लोगो का  बोलबाला है। भारत देश में इतनी आबादी है की लोगो को उस विचार धरा पे सोचने के लिए काफी मजबूर कर ही देता है। प्रधान मंत्री या चीफ मिनिस्टर सबके लिए यह एक बड़ी चिंता का विषय बन जाता है।

भारत का दूसरा स्थान है पुरे विश्व में जनसंख्या के मामले में जो एक चिंता जनक बात है। भारत के लिए बढ़ते लोगो के साथ साथ बढ़ते विचार धारा में भी बदलाव आता रहेगा। लोगो की सोच बदलेंगे संस्कृति जो हमारी इतनी प्रचलित है  पुरे विश्व में उसकी योजना में बदलाव का विचार नहीं आना चाहिए। बदलते समाज के साथ साथ बदलते संस्कृति का रुख कुछ खासअच्छा प्रयोजित नहीं होगा।

Read More About :

वर्तमान में भारत में कुल कितने जिले हैं 

भारत का कौन सा राज्य अंग्रेज़ो का गुलाम नहीं बना था

भारत की राजधानी क्या है और कब बनी

Conclusion

अगर आपको “भारत की जनसंख्या कितनी है 2022 में” यह जानकारी अच्छे से समझ आई हो तो आप ऐसी जानकारी के लिए हमरे वेबसाइट से जुड़ सकते है और आप ऐसे जानकारी प्राप्त कर सकते है। यहाँ हमने भारत की जनसंख्या से जुडी कुछ एहम बातो पर अपने विचार वियक्त किये है अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है तो आप ऐसे और जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट से जुड़ सकते है।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment