Recents in Beach

TRP क्या है ? - TRP full form in hindi

TRP क्या है ? - TRP full form in hindi : हेलो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग। आज कल हर कोई टीवी को तो देखना तो जरूर पसंद करता ही है और बहुत से लोग टीवी में लेटेस्ट न्यूज़ को देखते है जिससे उनको आज कल में होने वाली सभी चीज़ो के बारे में पता चलता रहे। तो आप लोगो ने टीवी या किसी न्यूज़ पेपर में trp के बारे में तो सुना ही होगा। तो क्या आप जानते है कि TRP Kya hoti hai aur iska full form kya hota hain in hindi अगर आप इसके बारे में कुछ नहीं जानते तो आज हम आपको इसी चीज़ के बारे में बताने वाले है। 

TRP क्या है ? - TRP full form in hindi ,trp क्या है ,टीआरपी क्या होता है ,भारत 2020 इस सप्ताह में सबसे ज्यादा टीआरपी शो ,trp full form ,trp अर्थ ,इस सप्ताह की टीआरपी रेटिंग? ,crp क्या होता है ,टीआरपी लिस्ट

TRP क्या है ? - TRP full form in hindi :

टीआरपी का मतलब होता है टीवी पे आने वाले किसी भी चैनल (channel ) या उसके सम्भोदित नाटक serials को लोगो द्वारा कितना पसंद किआ जा रहा है। उसकी रेटिंग updates की अगर वो लोगो या समाज द्वारा पसंद किआ जा रहा होगा तो उसकी TRP सबसे ज़्यदा और सबसे ऊपर आने लगते है। basically TRP TV प्रोग्राम और TV चैनल  की उसकी रेटिंग देने का काम करता है। 

भारतीय या विशव की जनता टीवी और सेरिअल्स की दुनिया में इतने व्यस्त रहते है की उसको आम ज़िन्दगी भी इन सब का हिस्सा लगने लगते है। परन्तु ऐसा नहीं होता टीवी सेरिलास और असल ज़िन्दगी में काफी वीबीनता होते है। टीवी पे दिखाए जाने वाले नाटक काल्पनिक होते होते है। लोग फिर भी उसे आम ज़िन्दगी का हिस्सा बना लेते है और उस चक्कर में यह काल्पिनिक नाटकों की देखने की संख्या बढ़ने लगते है जिससे trp बढ़ने लगते है और चैनल और टीवी वालो को बहुत फायदा होता है। 

TRP ही यह तय करते है की टीवी पे कोनसा चैनल सबसे ज़्यदा देखा जा रहा है। उस चैनल या प्रोग्राम की TRP  सबसे अधिक होते है जिससे यह साबित हो जाता है की वह लोगो द्वारा कितना पसंद किया जा रहा है। 

TRP ki Full Form kya hoti hai in hindi 

TRP की Full Form है (Television Rating Point ) यह एक ऐसा साधन है जिसके द्वारा यह अंदाज़ा लगाना बहुत आसान है की इस समय या इस प्रायप्त वर्तमान में कोनसा टेलीविज़न चैनल काफी सुर्खियों में है और किस प्रकार उसकी गिनती  अच्छे एवम बढ़िया कतार में की जा रही  है इससे चैनल को बहुत फायदा होता है इससे उसकी तरक्की में बढ़ोतरी होते है। और वो टीवी की दनिया का सबसे ज़्यदा पसंद किआ जाने वाला प्रोग्राम या चेंनेल बन जाता है। जो आज की कम्पटीशन  वाली दुनिया के लिए एक बहुत बड़ी बात है।

TRP कैसे चेक करते है? 

TRP Kya hoti hai aur iska full form kya hota hain in hindi ,टीआरपी का मतलब क्या होता है ,trp full form in english ,trp full form wikipedia ,टीआरपी का फुल फॉर्म ,television rating point meaning in hindi ,tot full form in hindi ,msp full form in hindi

TRP Calculate या मापने के लिए लोगो का आश्वासन लिया जाता है। कई जगहों पर पीपलस मीटर (People Meter ) लगाया जाता है जिससे कुछ हज़ार दर्शक ही जुड़ पते है उन्हें ही फिर सरे दर्शक मान किआ जाता है। उन्ही दर्स्को की total specific frequency निकाली जाती है। जिससे यह माप दंड निकाला जाता है की किस चैनल को कितने बार देखा गया या देखा जा रहा है। इस मीटर के द्वारा एक एक मिंट की जानकारी को monitoring team INTAM यानि Indian Television Audience Measurement तक भेजा जाता है। 

यह टीम लोगो या पीपल मीटर से मिली जानकारी का विश्लेषण करते के बाद तय करती है की किस चैनल की trp सबसे ज्यादा है। इसको कैलकुलेट करके एक दर्शकोके द्वारा नियमित रूप से देखे जाने वाले प्रोग्राम और उसके समय को लगातार रिकॉर्ड किआ जाता है और फिर इस डाटा को 30 से गुना करके प्रोग्राम का averge रिकॉर्ड निकला जाता है। यह पीपल मीटर किसी भी प्रोग्राम या चैनल की पूरी जानकारी निकल देता है। 

TRP कम या ज्यादा से क्या होता है ?

किसी भी चैनल की TRP कम या ज़्यदा होने से सीधा असर उस चैनल की इनकम (INCOME ) पर पड़ेगा। आपको यह जानकर आस्चर्य होगा की TV चैनल की कमाई का सबसे तेज़ जरिया Advertisement होता है। यह चैनल अपनी सारी कमाई विज्ञापनों द्वारा ही करते है। 

अगर आपको किसी चैनल पर विज्ञापन कम आते हुए दिखते है तो इससे पता चलता है की उस चैनल की कमाई बहुत कम है और अब र्लोगो द्वारा उस चैनल को बहुत कम देखा जा रहा है। लेकिन जिस चैनल को लोगो द्वारा ज्यादा देखा जाता है। तो उसकी TRP बढ़ने लगते है और  प्रचार ज्यादा आने लगते है जिससे चैनल की कमाई होने लगते है।

वही दूसरे तरफ अगर किसी चैनल को लोगो द्वारा कम देखा जा रहा है तो उसकी TRP कम होने लगते है और उस चैनल के विज्ञापन में कमी आने लगते है। इसलिए TRP कम या ज़्यदा होने से चैनल की income पे सीधा असर होता है। 

TRP से TV चैनल की कमाई कैसे होते है ?

TRP से चैनल की कमाई  जरिया है। जितनी trp जिस चैनल की ज्यादा होगी उस चैनल या प्रोग्राम की कमाई के चांस ज़्यदा होंगे। रोजाना कई सीरियल्स telecast होते है। वो लगभग 20 -30 मं के बीच के होते है। उनमे 15 मिनट विज्ञापन भी शामिल होता है। जो उसकी कमाई का एक एहम हिस्सा होता है विज्ञापन ही तय करता है की इस की कमाई की रेंज trp के हिसाब से कितने होने चाहिए। 

लोगो को आजकल नई नाटकों की लालसा है जैसे  कोई भी नाटक को वो अपने मनोभाव से अचे से जोड़ने की कोसिस करते है जैसे हमारे आपके घरो में माँ पापा भाई भें के कुछ पसंदीदा नाटक होते है जिससे वह पूरी श्रद्धा से देखते है। जिस प्रकार वह उस नाटक को देखते है जितना और कई लोगो दवरा अगर उसको पसंद किआ जाता है तो उसको सीधा फायदा चैनल की कमाई को होता है। जितना लोगो के मन को चीज़े की कला भाते ही उतना ही फयदा चैनल की प्रतकिर्या और उसकी कमाई को होता है। 

Read more about :

How To Apply for Online Driving Licence In Up

Bharat Me Kul Kitne Rajya Hai || India me kitne state hai

What Is Credit Card In Hindi - Credit Card Meaning In Hindi

जिसमे एक सबसे एम हिस्सा TRP भी निभाते है। बढ़ते कम होते TRP चैनल की मनगड़ना पर निम्न लिखित सवाल पैदा करते है। हर चैनल और प्रोग्राम ग्रो करना चाहते है। और आज जिसके TRP सबसे अचे होंगे उसको उस हिसाब से कमाई का साधन मिलेगा। नाटकको की और TV चैनल की कमाई TRP पे पुरनता निर्भर है। 

कुछ संचारो से यह भी तय हुआ था की चैनल की ग्रोथ के लिए FAKE PUBLICITY का भी सहारा लिए जाता है। पर यह कुछ सीमा तक ही हो पता है। चैनल की ग्रोथ तब पूर्णतः संभव होंगे जब आप कुछ ऐसा बना पायंगे जो लोगो दवरा खूब पसनद या सरहाय जायेगा जो एक मात्र आगे बढ़ने का ऑनेस्ट तरीका है। TRP का रोले बहुत है चैनल की कमाई होने मई। 

Conclusion 

तो यहाँ पर हमने आपको बताया TRP Kya hoti hai aur iska full form kya hota hain यहाँ पर हमने आपको यह भी बताया है की न्यूज़ के चैनल कैसे कमाई करते है और trp के कम और ज्यादा होने से क्या फर्क पड़ता है। वैसे तो हमने TRP से जुडी सभी चीज़ो के बारे में आपको बता दिया है। में आशा करती हु की आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। तो अब इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को शेयर जरूर करे। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ