NRC Full Form In Hindi | एनआरसी फुल फॉर्म क्या है

5/5 - (9 votes)

NRC Full Form In Hindi :एनआरसी आज के समय में हमारे देश में 2019 से एक अहम मुद्दा है क्या आप इस शब्द एनआरसी से वाकिफ हैं? अगर नहीं तो आज कि हम अपनी इस पोस्ट में आपको एनआरसी क्या है इसके बारे में बताएंगे। इसकी फुल फॉर्म बताएंगे साथ ही इससे जुड़ी हर जानकारी देंगे सबसे पहले हम आपको फुल फॉर्म आफ एनआरसी इन हिंदी इसके बारे में बताएंगे इसके बाद इससे जुड़ी और भी जानकारी हम आपको देंगे।

NRC Full Form In Hindi

एनआरसी क्या है ( What Is NRC )

एनआरसी बिल का हम उद्देश्य है भारत में रह रहे दूसरे देशों के लोगों को उनके अपने देश जहां से वह आए हैं वहां वापस भेजना। हमारे देश में तो यह कानून फिर भी 2019 में आया लेकिन अमेरिका समेत कई और देशों में यह कानून बहुत पहले से ही लागू है। लेकिन फिर भी लोग इस बिल पर घमासान मचाए हुए कुछ राजनीतिक कर रहे हैं तो कुछ धर्म के नाम पर दंगे करवा रहे हैं।

हमारी सरकार भी स्पष्ट कर चुकी है कि इस बिल से किसी भी धर्म के लोगों को देश से नहीं निकाला जाएगा और ना ही उनको इस से कुछ नुकसान होगा। इस बिल का सिर्फ यही उद्देश्य और मकसद है जो बाहर से आए हुए घुसपैठिया हमारे देश में जबरदस्ती रह रहे हैं उन्हें देश से बाहर निकालना है।

एनआरसी लागू करने की आवश्यकता ( Need to implement NRC )

जो लोग गैरकानूनी तरीके से असम में रह रहे थे उन्हें निकालने के लिए यह अभियान चलाया गया। जो कि दुनिया के सबसे बड़े अभियानों में से एक है। इसके अंदर कई ऐसे लोग मिले जो अवैध रूप से रह रहे थे और उन्हें उनके देश भेजा गया। असम में अभी भी तकरीबन 50 लाख बांग्लादेशी अवैध रूप से रह रहे है, जिसकी वजह से यह दोनों आर्थिक और सामाजिक परेशानियां लंबे समय बनी हुई है। एनआरसी लागू ही ज्यादातर उन राज्यो में होती है जहाँ अन्य देश के नागरिक प्रवेश करते हैं। हालाँकि अब इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा।

NRC Full Form In Hindi

एनआरसी का फुल फॉर्म नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन है। इंग्लिश में इसका फुल फॉर्म NRC- (National Register Of Citizens) है।

NRC Full Form In Hindi Medical

NRC Full Form In Hindi Medical Nutrition Rehabilitation Center है। काफी लोग फुल फॉर्म में बहुत परेशान होते है। लेकिन इस आर्टिकल में आपको हर जानकारी प्राप्त होगी।

NRC Full Form In Bengali

NRC Full Form In Bengali জাতীয় নাগরিক নিবন্ধক है।

हम आपको एनआरसी का हिंदी मीनिंग क्या होता है इसके बारे में भी जानकारी देते हैं। इसका हिंदी मीनिंग यह होता है

‘नागरिकों का राष्ट्रीय रजिस्टर’

जैसा कि अब आप सबको एनआरसी बिल क्या है और इसका मतलब और महत्व मतलब क्या है एनआरसी फुल फॉर्म इन हिंदी इन सभी के बारे में तो जानकारी मिल ही गई तो चलिए अब आपको एनआरसी बिल से जुड़ी और भी जानकारी देते हैं।

जैसा कि मैंने आपको ऊपर भी बताया नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन बिल यानी कि एनआरसी बिल का मकसद भारत में रह रहे दूसरे देशों के लोगों को उनके देश भेजना हमारे सरकार का उद्देश्य है। हम आपको बताना चाहेंगे कि एनआरसी अभी तक केवल असम में ही लागू हुआ है लेकिन हमारे देश के गृहमंत्री अमित शाह पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि इसको हर राज्य यानी कि पूरे देश में लागू किया जाएगा। एनआरसी सबसे पहले असम में रहने वाले भारतीय नागरिकों की पहचान करने के लिए एक सूची है। इसे इसलिए बनाया गया था।

जब देश का विभाजन हुआ तो काफी असम के लोग पूर्वी पाकिस्तान जो कि आज का बांग्लादेश है। वहाँ चले गए परन्तु उनके ज़मीन जायदाद असम में रह गए। जिस चक्कर में उनका आना जाना लगा रहा। जिसका नतीजा यह हुआ कि वो लोग असम में रहने लगे और पहचाना मुश्किल हो गया कि वो भारतीय है या नही।

 जैसा कि एनआरसी बिल का मतलब है “नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन” बिल तो हम आपको बताना चाहेंगे।

ये एक रजिस्टर है जिसमें भारत के रहने वाले सभी नागरिकों का रिकॉर्ड दर्ज रखा जाएगा मतलब जो भारत के बाहर के नहीं सिर्फ भारतवासियों का रिकॉर्ड इसमें रखा जाएगा। एनआरसी बिल भले ही 2019 में लागू हुआ है लेकिन इसकी शुरुआत 2013 में भारत के सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में असम राज्य में हुई थी।

अब आपको बताते हैं कि एनआरसी बिल में आप भारतीय नागरिक है यह साबित आप कैसे कर सकते हैं आप भारत के नागरिक है यह साबित करने के लिए आपको यह साबित करना पड़ेगा कि आप के पूर्वज 24 मार्च 1971 से पहले भारत में आ गए थे।

असम में रहने वाले लोगों में बांग्लादेशियों की आबादी बढ़ती ही जा रही थी जो कि अवैध तरीके से रह रहे थे उन्हें निकालने के लिए इस बिल को सबसे पहले असम में लागू किया गया था। 

किन दस्तावेजों की एनआरसी के लिए जरूरत होगी?

यह सवाल कई लोगों के मन में है कि अपने आप को भारतीय साबित करने के लिए किस दस्तावेज का इस्तेमाल कर सकते हैं तो हम आपको बताना चाहेंगे कि आप भारतीय नागरिक है यह साबित करने के लिए आपके पास:-

1.रिफ्यूजी रजिस्ट्रेशन होना जरूरी है

2.भारतीय सिटीजनशिप सर्टिफिकेट होना जरूरी है 3.भारतीय आधार कार्ड होना जरूरी है

4.एलआईसी पॉलिसी की बीमा का कोई भी कागज होना जरूरी है भारतीय

5.जन्म का सर्टिफिकेट होना जरूरी है

6.भारत सरकार द्वारा जारी किया गया कोई भी लाइसेंस या सर्टिफिकेट होना जरूरी है

हम आपको बता दें कि जरूरी नहीं आपके पास सभी दस्तावेजों इनमें से कोई एक दस्तावेज होना जरूरी है।

अब कई लोगों के मन में यह सवाल भी आता है कि जो भारतीय नागरिक साबित नहीं हो पाएंगे उनको क्या ऐसे ही देश से बाहर निकाल दिया जाएगा बिना कुछ आगे उनका सोचे हुए तो जी नहीं ऐसा नहीं है कोई भी परिवार या व्यक्ति अगर एनआरसी बिल में शामिल नहीं है तो जैसा पहले असम में हुआ उसको भारत के डिटेंशन सेंटर में ले जाया जाएगा।

इसके बाद भारत सरकार के कर्मचारी उनकी जांच पड़ताल करेगी कि वह किस देश से आए हैं फिर वह जिस देश के नागरिक होंगे उस देश से संपर्क करेगी भारत सरकार जिन दस्तावेजों को दूसरे देशों के सरकार के सामने प्रस्तुत करेगी अगर वह मान लेते हैं कि वह उन देश के नागरिक है तो इन लोगों को उनके देश जहाँ के वे लोग है। वहाँ वापस भेज दिया जाएगा।

यही इस बिल का उद्देश्य है लेकिन भारत में बहुत से लोग बिना कुछ जानकारी के प्रदर्शन कर रहे हैं और घमासान करने में जुट गए हैं।

अब तक आपको एनआरसी बिल की फुल फॉर्म हिंदी में सिर्फ इसकी जानकारी मिली है लेकिन ऐसा नहीं है कि एनआरसी कि यही एकमात्र फुल फॉर्म है इसके अलावा भी एनआरसी के कई फुल फॉर्म है चलिए इसके बारे में भी आपको बता देते हैं

All Other Full Form In Hindi

NRC- Nutrition Rehabilitation Center

NRC- Nokia Research center

NRC- National Research Corporation

NRC- Nursing Reference Center

NRC- Nuclear Research Corporation

NRC- Neighborhood Reinvestment Corporation

NRC- Neilson Research Corporation

NRC- National Revenue Center

NRC- Nestle Research Centre

NRC- Network Research Corporation

NRC- Net Replacement Cost

NRC- Non-Resident Client

NRC- Non-Recurring Cost

NRC- Nichols Research Corporation

NRC- Nonrecurring Recoupment Charge

NRC- Nonrecurring Cost

Read More About :

मृत्‍यु प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन

no cost emi meaning in hindi

ऑनलाइन पासपोर्ट कैसे बनवाते है

FAQ ( Frequently Asked Questions )

एक व्यक्ति भारतीय है यह साबित करने के लिए क्या करना होगा?

वह भारतीय नागरिक है यह साबित करने के लिए उन्हें यह साबित करना होगा कि उसके पूर्वज 24 मार्च 1971 के पहले भारत मे आए थे और उसका कुछ भी दस्तावेज दिखाना होगा।

अगर किसी व्यक्ति के पास दस्तावेज नही हुए तो क्या होगा?

ऐसे में उन्हें कोई गवाह लाने को कहा जायेगा। पूरी जाँच पड़ताल के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा। किसी भी भारतीय नागरिक को बिना किसी वजह परेशानियों का सामना नही करना पड़ेगा।

क्या NRC किसी एक धर्म के लिए है?

नही, NRC किसी भी धर्म के लिए नही है। NRC का उद्देश्य है दूसरे देशों के लोगो को उनके देश भेजना।

क्या NRC और CAA का हिस्सा है?

नही, CAA एक अलग कानून है और NRC अलग। NRC एक रजिस्टर है, जिसमे सभी भारतीय नागरिकों का रिकॉर्ड रखा जाएगा। फिलहाल यह सिर्फ असम में लागू है क्योंकि वहाँ पे बंगलादेशियो की आबादी बढ़ती ही जा रही थी।

Conclusion

सरकार ने ये नियम भारत में रह रहे नागरिकों के लिए बनाया है ताकि आगे चल के उन्हें कोई परेशानी का सामना न करना पड़े। इसमे नागरिकों को यह दिखाना है कि उनके पूर्वज 24 मार्च 1971 पहले आये थे। हालांकि अभी सरकार ने कोरोना महामारी के चलते दस्तावेज लेने बंद कर दिए है। एनआरसी में किसी धर्म मे पक्षपात नही हो रहा है। इसका उद्देश्य सिर्फ इतना है कि अवैध तरीको से रह रहे लोगो को उनके देश भेज दिया जाए।

दोस्तो आशा करता हूं कि आपको हमारा ये ब्लॉग पसंद आया हो और आपको सारी जानकारी एनआरसी की मिली होगी।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment