[ Important ] CSE full form in engineering | CSE full form in Hindi

Rate this post

हेलो दोस्तों आप सभी लोगों ने cse full form in engineering के बारे में तो सुना ही होगा। तो आखिर यह क्या है और इसके क्या फायदे हैं इन सभी के बारे में आपके मन में सवाल उठ रहे होंगे। तो अगर आप भी cse करना चाहते है तो किस तरीके से कर सकते है इससे जुडी सभी बातो पर हम आज के आर्टिकल में बात करने वाले है। 

आज के समय में आप सभी लोगों को पता है कि कंप्यूटर हम सभी के जीवन में बहुत बड़ा हिस्सा बन चुका है और आजकल सभी लोग इस से ही संबंधित सारी पढ़ाई करना चाहते हैं कुछ लोग तो शुरू से कंप्यूटर के पढ़ाई करते हैं और उसी के कोर्ट को करके आगे नौकरी भी करते हैं तो उसी प्रकार से cse भी लोग करते है।

तो दोस्तों आप लोगों का भी शुरू से ही कंप्यूटर में इंटरेस्ट सभा है और आप कंप्यूटर के किसी भी काम को करने में सक्षम है या फिर सीखना चाहते हैं तो cse कर सकते हैं। अगर आप इसे कर लेते है तो आपको Future में बहुत ज्यादा ही फैयदा होगा। क्युकी आज कल हर जगह पर कंप्यूटर से ही काम होते है और अगर आप coding में काम करेंगे तो आपको cse लेना ही पड़ेगा। 

CSE full form in engineering,CSE full form

CSE क्या है – CSE full form in engineering 

आप सभी लोग जानते हैं आजकल ज्यादातर लोग इंजीनियरिंग करते हैं तो आप भी कंप्यूटर साइंस से इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो आपको CSE लेना पड़ेगा। यहां पर आपको कंप्यूटर से संबंधित सारी जानकारियों को सीखना पड़ेगा कि आप कैसे कंप्यूटर पर काम करते हैं और कैसे यहां पर मशीन काम करते हैं और अगर आपको यहां पर कोडिंग नहीं आती होगी तो आपके लिए यहां पर दिक्कत हो सकती है क्योंकि यहां का आपको कंप्यूटर का है पूरा काम करना होता है यहां पर प्रोग्रामिंग करनी होती है नए नए सॉफ्टवेयर को बताना होता है वैसे तो इस फील्ड में काफी ज्यादा ग्रोथ है लेकिन अगर आपको सही से पड़ेंगे तभी आप इसको पूरा कर पाएंगे।  

आप सभी लोगों को पता है कि कंप्यूटर के दो प्रकार होते हैं जिसमें से पहला होता हार्डवेयर जोकि कंप्यूटर इंजीनियरिंग लेते हैं तो इसके बारे में अध्ययन करना पड़ता है। लेकिन वहीं पर जो दूसरा पार्ट है सॉफ्टवेयर उसके लिए कंप्यूटर साइंस लेना पड़ता है। तभी आप सॉफ्टवेयर से संबंधित सभी जानकारियों को सीख पाएंगे तो आप सभी लोगों को पता चल गया होगा कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर में कितना अंतर होता है। आप आप इसे कैसे कर सकते हैं और यहां पर सी का फुल फॉर्म क्या है उसके बारे में नीचे जानेंगे। 

CSE full form in engineering 

जैसा कि ऊपर हमने आपको इससे संबंधित सारी जानकारी दी तो आपको उससे इस की फुल फॉर्म का अंदाजा लग गया होगा लेकिन जो लोगों को CSE का फुल फॉर्म नहीं पता है उन लोगों को हम यहां पर बता देते तो CSE का फुल फॉर्म “Computer Science Engineering” है। अगर आप इसको उसको यहां पर करते हैं तो आपको यहां पर कंप्यूटर प्रोग्राम ऑल नेटवर्किंग पर फोकस करना पड़ेगा। 

वैसे भी आजकल सभी बच्चे होते हैं उनका कंप्यूटर में बहुत ज्यादा इंटरेस्ट होता है और वह कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग ही करना चाहते हैं क्योंकि उनको इसका पता है आगे किसका फ्यूचर काफी अच्छा है यहां पर आपको अच्छा सैलरी भी मिल जाता है और आपको नौकरी भी बहुत आसानी से मिल जाती है क्योंकि कंप्यूटर सेक्टर में आजकल नौकरियों की  बहुत डिमांड है। 

Computer Science  Engineering कैसे करे

तो अब हम यहां पर आपको बताएंगे कि आप कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग कैसे कर सकते हैं यहां पर बहुत सारे लोग इसके बारे में जानकारी नहीं होती और मैं कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग कॉल नहीं कर पाते हैं लेकिन अब हम यहां पर आपको सभी जानकारी देने वाले हैं। 

सबसे पहले आपको कक्षा ग्यारहवीं में अपना कंप्यूटर साइंस का सब्जेक्ट लेना होगा अगर आप यहां पर कंप्यूटर से ही संबंधित आगे कुछ करना चाहते हैं उसके बाद आपको यहां पर अंडर ग्रेजुएशन करनी है अब आप  B.Tech या फिर B.E करनी है। अगर आप B.Tech कर लेते है तो उसके बाद आप M.Tech भी कर सकते है। 

अगर आप यहां पर आईआईटी के जरिए Computer Science  Engineering करना चाहते हैं तो आपको शुरू से ही बहुत ज्यादा मेहनत करनी होगी क्योंकि जब तक आप यहां पर इसका एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर नहीं कर पाएंगे तब तक आप यहां पर एडमिशन बिल्कुल नहीं लिख सकते हैं वैसे भी आप सभी लोग जानते हैं कि आईआईटी एक बहुत बड़ा टैग होता है अगर आप यहां पर एडमिशन ले लेते हैं और उसके बाद अगर नौकरी करेंगे तो आपके जो सैलरी होती है वह काफी ज्यादा होती है। 

अगर आपका आईआईटी में एडमिशन नहीं हो पाता है तो उसके बाद आप यहां पर प्राइवेट भी कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग कर सकते हैं।  यहां पर बहुत से ऐसे कॉलेज है जो कि यह करवाते हैं। लेकिन यहां पर आपको पैसा अधिक देना होता है और यहां पर जो आपको नौकरी मिलती है वह भी ठीक मिल जाती है लेकिन IIT वाला pakage नहीं मिल पाता है। 

CSE कितनी अवधि की होती है 

अगर आप कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग करते हैं तो आपको यह जरूर पता होना चाहिए कि यह कितने अवधि की होती है तो यहां पर B.tech और B.E 4 साल की होती है। वहीं पर M.tech  2 साल की होती है। अगर आप इन दोनों को ही किसी प्राइवेट से कर लेते है तो नौकरी करने लगते है तो आगे आपकी सैलरी काफी अच्छी हो जाती है। शुरू में तो सभी को कम ही पैसा मिलता है लेकिन एक्सपीरयंस होने के बाद आपकी सैलरी बढ़ेगी ही। 

CSE Career Options

अगर आप कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग कर लेते उसके बाद आप यहां पर यह जानना चाहते हैं कि आपको किस तरह कि यहां पर नौकरियां मिल सकती है कौन-कौन से ऐसी प्रोफाइल है जिन पर आप यहां पर नौकरी कर सकते हैं उसके बारे में आपको नीचे हम बताएंगे। 
  1. System designer
  2. System analyst
  3. Networking engineer
  4. The database administrator (DBA)
  5. Software developer
  6. System designer
  7. Hardware engineer
अब जो लोग यहां पर पॉपुलर इंजीनियरिंग कॉलेज से ही अपनी पढ़ाई को पूरा करना चाहते हैं तो हम नीचे आपको कुछ लिस्ट दे देंगे जहां पर भारत के सबसे बढ़िया कॉलेज होंगे 
  1. UPES Dehradun
  2. LPU Jalandhar
  3. Jain University, Bangalore
  4. KL University Guntur
  5. SRM University Chennai
  6. NIIT University, Neemrana
  7. GD Goenka University, Gurgaon
  8. GNA University, Phagwara
  9. Chandigarh University
  10. BML Munjal University, Gurgaon

Computer Science  Engineering Top Recruiters Company 

मैंने बहुत सारे लोगों को देखा है जो लोग कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का कोर्स करते उन लोगों को यह नहीं पता होता है कि हम किस जगह पर जाकर नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं आप लोगों को पता है की बहुत सारी बड़ी-बड़ी कंपनियां हैं जो कि कंप्यूटर साइंस इन वालों के लिए नौकरियां निकालती हैं तो नीचे आपको कुछ कंपनियों की लिस्ट देंगे जो कि काफी बड़ी बड़ी कंपनी है अगर उसमें आपका सिलेक्शन हो जाता है तो काफी बढ़िया बात होगी। 

  1. Google
  2. Amazon
  3. Flipkart
  4. Netflix
  5. Facebook
  6. TCS
  7. Infosys
  8. Accenture
  9. Cognizant
  10. Microsoft
  11. IBM 
  12. Oracle
  13. Cisco
  14. Tech Mahindra
  15. Snapdeal

CSE full form in UPSC

CSE full form in engineering  के बारे में तो आपने ऊपर जाना ही है। लेकिन CSE full form in UPSC में भी होता है जिसका फुल फॉर्म “Civil Services Exam” है। इस एग्जाम के बारे में तो आप सभी लोगों को पता हो क्योंकि यह एक गवर्नमेंट पद के लिए एग्जाम होता है यहां पर आपको गवर्नमेंट की नौकरी मिलती है अगर आप इस एग्जाम को पास कर लेते हैं तो आपको यहां पर सरकारी नौकरी मिल जाते हैं। 

आप लोगों ने बहुत सी मूवी में देखा हुए के लोग यूपीएससी की तैयारी करते हो और एक कलेक्टर बन कर आते हैं तो वो यही एग्जाम होता है। लेकिन इसके लिए भी काफी मेहनत होती है। लेकिन ये आपके कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग से काफी अलग होता है। तो अगर आपका इसकी तैयारी करना चाहते है तो आपको अलग तरीके से करनी होगी।

FAQ ( Frequently Asked Questions )

UPSC का फूल फॉर्म क्या है?

Union Public Service Commission

UPSC CSE का फुल फॉर्म क्या है?

Civil Services Examination

सीएसई की प्रमुख नौकरियां क्या हैं?

System designer, System analyst, Networking engineer, database administrator (DBA), Software developer, System designer, Hardware engineer.

Conclusion 

तो यहां पर हमने आपको CSE full form in engineering के बारे में बताया है कि आप अगर कंप्यूटर से संबंधित इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो किस तरह से कर सकते है। वैसे तो आज कल लोग जो भी कंप्यूटर से रिलेटेड कुछ बड़ा करना चाहते है तो CSE ही करते है। जो लग पढ़ने में बहुत होशियार होते है वो इसी को IIT के माध्यम से पूरा करते है। तो अगर आप भी कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग करना चाहते है तो ऊपर हमने आपको इससे रिलेटेड सभी जानकारी दी है।   

हमने यहाँ पर CSE full form in engineering के इलावा भी CSE full form in UPSC के बारे में भी थोड़ा बहुत बताया है कि ये किस लिए करी जाती है तो आप इससे क्या बन सकते है। तो अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे जिससे अगर उनको भी कंप्यूटर में इंट्रेस्ट है तो आगे वो इस चीज़ को भी कर सकते है। 

Leave a Comment